International

नेपाली PM ओली की मुश्किलें बढ़ीं, PM व पार्टी प्रमुख दोनों पद दांव पर

नेपाली PM ओली की मुश्किलें बढ़ीं, PM व पार्टी प्रमुख दोनों पद दांव पर

नई दिल्ली: नेपाल में बीते दिनों शुरू हुआ राजनीतिक संकट चीनी राजदूत के हस्तक्षेप के बाद भी अभी खत्म होता नजर नहीं आ रहा है. जी हां अब केपी ओली के प्रधानमंत्री पद के साथ-साथ पार्टी अध्यक्ष के पद पर भी संकट गहरा गया है. नेपाल की तरफ से जारी किए गए नए नक्शे का असर नेपाल की आंतरिक राजनीति पर भी हो रहा है और प्रधानमंत्री केपी ओली संकट में दिख रहे हैं.

भारत के साथ विवाद के बीच केपी ओली के प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देने की मांग उठ रही है. इस बीच अब एक और मांग उठने लगी है कि उन्हें पीएम पद के साथ-साथ पार्टी के अध्यक्ष पद से भी इस्तीफा देना चाहिए. केपी ओली अभी नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के प्रमुख हैं और प्रधानमंत्री होने के साथ-साथ पार्टी के प्रमुख फैसले भी वही लेते हैं. लेकिन, बीते दिनों पूर्व प्रधानमंत्री प्रचंड की अगुवाई में जब से उनका विरोध शुरू हुआ है तभी से केपी ओली संकट में हैं.बुधवार को भी नेपाली पीएम ने अपने करीबी मंत्रियों और पार्टी के नेताओं के साथ बैठक की थी, जिसमें आगे की रणनीति पर मंथन हुआ था.

ओली ने भारत को बताया संकट का जड़
भारत के साथ सीमा विवाद को लेकर नया नक्शा जारी किए जाने के नेपाल के कदम के बाद ही केपी ओली के खिलाफ पार्टी में आवाज उठ रही है. इस बीच पूर्व प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड ने उनके इस्तीफे की मांग कर दी. दरअसल, नए कार्यकाल में नेपाल की दोनों कम्युनिस्ट पार्टियों ने एक साथ आकर सरकार बनाई थी और कार्यकाल दर कार्यकाल पीएम पद पर बात बनी थी. लेकिन, अब जब हालात बिगड़ रहे हैं तो ओली का विरोध शुरू हो गया है. केपी ओली ने उनकी गद्दी पर आए संकट के पीछे भारत का हाथ बताया था, हालांकि वह कुछ सबूत नहीं दे सके. बल्कि प्रचंड ने भी कहा कि भारत पर आरोप लगाने से पहले उन्हें सोचना चाहिए.

चीनी राजदूत मसले को सुलझाने में जुटीं
राजनीतिक संकट का सामना कर रहे नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली को एक बार फिर से नेपाल में चीनी राजदूत होउ यांकी संकट से निकालने में जुटी हुई हैं. नेपाल की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी की स्थायी समिति की बैठक में पीएम ओली से इस्तीफे की मांग के बाद चीनी राजदूत होउ यांकी तुरंत सक्रिय हो गईं. इसके बाद उन्होंने मामले में हस्तक्षेप किया और पीएम ओली की सत्ता पर मंडरा रहे संकट के बादल को फिलहाल टालने का पूरा प्रयास कर रही हैं. चीनी राजदूत होउ यांकी ने नेपाल के प्रधानमंत्री के पी ओली से उनके निवास पर बैठक करने बाद, पुष्प कमल दहल 'प्रचंड' और माधव नेपाल जैसे कम्युनिष्ट पार्टी के कुछ बड़े नेताओं से अलग-अलग मुलाकात की. इस दौरान चीनी राजदूत ने इन पर पार्टी विवाद खत्म करने के लिए दबाव बनाया. 

Comments

Leave a comment